Thursday , 18 October 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    अनुभवी नेताओं को छोड़ अहंकारी नामदार ने अपनी बाल्टी आगे रख दी: राहुल की पीएम उम्मीदवारी पर मोदी

    अनुभवी नेताओं को छोड़ अहंकारी नामदार ने अपनी बाल्टी आगे रख दी: राहुल की पीएम उम्मीदवारी पर मोदी

    बेंगलुरु.नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कर्नाटक के बंगारपेट की चुनावी रैली में राहुल गांधी के प्रधानमंत्री बनने वाले बयान को लेकर निशाना साधा। प्रधानमंत्री ने कहा कि नामदार (राहुल) ने कांग्रेस के अनुभवी नेताओं और गठबंधन वाले दलों को दरकिनार करके खुद को प्रधानमंत्री घोषित कर दिया। यह नामदार पार्टी का अहंकार नहीं थी तो क्या है? बता दें कि मोदी बुधवार को राज्य में चार चुनावी सभाएं करेंगे। इसके बाद उनकी चिकमंगलुरु, बेलगावी और बीदर रैलियां हैं। बता दें कि नामदार से मोदी के मायने एक परिवार विशेष के वारिस से थे। राहुल ने मंगलवार को बेंगलुरु में समृद्ध भारत फाउंडेशन के प्रोग्राम में एक सवाल पर कहा था कि अगर कांग्रेस 2019 में सबसे बड़ी पार्टी बनी तो प्रधानमंत्री क्यों नहीं बनूंगा।

    नामदार ने अपनी बाल्टी आगे रख दी
    – नरेंद्र मोदी ने कहा, “गांव में पानी का टैंकर आने से पहले लोग लाइन से बाल्टी लगा देते हैं। वो ईमानदार लोग बाल्टी लगाकर अपने-अपने काम में लग जाते हैं। 3 बजे टैंकर आता है तो लोग बारी-बारी से पानी भरते हैं। लेकिन गांव में कोई दबंग होता है। लोकतंत्र को मानता नहीं है। वह तीन बजे ठीक पहुंचता है। छाती तानता निकलता है और अपनी बाल्टी पहले रख देता है और टैंकर का पानी खुद ले लेता है। कर्नाटक में, हिंदुस्तान में, हिंदुस्तान की राजनीति में कल ऐसा ही हुआ। बाकी की कतार का जो होगा तो होगा, गठबंधन के दलों का जो होगा सो होगा। 40 साल से इंतजार कर रहे नेताओं का जो होगा सो होगा। उसने कतार में अपनी बाल्टी पहले रख दी। कहा- मैं प्रधानमंत्री बनूंगा। यह अहंकारी नामदार का खुद को प्रधानमंत्री घोषित करना ये कांग्रेस की अपरिपक्व लोकशाही को व्यक्त करता है कि नहीं।”

    – “2019 से पहले खुद को प्रधानमंत्री घोषित कर देना, मैं आपसे पूछता हूं कि नामदार का अहंकार सातवें आसमान पर पहुंचा है या नहीं?

    कांग्रेस 6 बीमारियों से ग्रस्त

    – मोदी ने कहा, “कांग्रेस छह बीमारियों से ग्रस्त है। वह जहां जाती है, इन छह बीमारियों से ग्रस्त कर देती है। छह सी कांग्रेस को बर्बाद कर रहे हैं। ये हैं- स्वयं में कांग्रेस कल्चर (परिवारवाद), काम्युनिलिज्म (साम्प्रदायिकता), कास्टिज्म (जातिवाद), क्राइम (अपराध), करप्शन (भ्रष्टाचार) और कॉन्ट्रैक्ट (ठेकेदारी) है।

    मोदी ने पूछा- दूसरे राज्यों में कांग्रेस का जो हुआ, वहीं क्या कर्नाटक में होगा?

    – मोदी ने कहा, “गोवा में चुनाव हुआ क्या हुआ?, मध्य प्रदेश में चुनाव हुआ क्या हुआ?, राजस्थान में चुनाव हुआ क्या हुआ?, छत्तीसगढ़ में चुनाव हुआ क्या हुआ?, उत्तराखंड में चुनाव हुआ क्या हुआ?, उत्तर प्रदेश में चुनाव हुआ क्या हुआ?, हिमाचल में चुनाव हुआ क्या हुआ?, असम में चुनाव हुआ क्या हुआ?, मणिपुर में चुनाव हुआ क्या हुआ?, त्रिपुरा में चुनाव हुआ क्या हुआ?, नगालैंड में चुनाव हुआ क्या हुआ? हिंदुस्तान में जहां-जहां चुनाव हुआ क्या हुआ? कर्नाटक में 15 मई को क्या होगा?
    – “कांग्रेस सरकारों के प्रति इतनी नाराजगी क्यों है? कांग्रेस के परिवारवाद, वंशवाद पर इतनी नाराजगी क्यों है?”

    मनमोहन का रिमोट मैडम जी के पास था, मेरा जनता के पास

    – मादी ने आगे कहा, “आप बताइए जब केंद्र में मनमोहन सिंह की सरकार थी तब उनका रिमोट कंट्रोल मैडमजी के हाथ में था, लेकिन मोदी का रिमोट कंट्रोल जनता के हाथ में है। मेरा आलाकमान आप हैं।

    मोदी कर चुके हैं अब तक 17 रैलियां

    – मोदी 7 दिन में अब तक 14 रैलियां कर चुके हैं। उन्होंने अपना चुनावी कैम्पेन 1 मई को चामराजनगर से शुरू किया था। यहां उन्होंने राहुल पर हमला बोला था और उनके 15 मिनट के चुनौती वाले बयान का जवाब दिया था।

    मोदी ने कहा- “मोदी जी को छोड़ो। मैं आपसे कहता हूं कि आप कर्नाटक के चुनाव प्रचार में 15 मिनट बगैर कागज हाथ में लिए हिंदी, अंग्रेजी या अपनी मां की मातृभाषा में बोल के दिखा दीजिए।”
    – “एक बात और इस 15 मिनट के भाषण में 5 बार श्रीमान विश्वेश्वरैया का नाम ले लेना। कर्नाटक की जनता तय कर लेगी, उन्हें क्या करना है।”
    – राहुल गांधी एक रैली में कर्नाटक की महान हस्ती मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया का नाम ठीक से नहीं ले पाए थे। बाद में यह वीडियो काफी वायरल हुआ था।

    कर्नाटक के अब तक 9 दौरे कर चुके हैं राहुल

    – राहुल गांधी ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर 10 फरवरी से चार दिवसीय दौरे के साथ अपने प्रचार अभियान की शुरूआत की थी। इसके बाद से अब तक राहुल कर्नाटक के 9 दौरे कर चुके हैं।

    -7 मई को राहुल ने कर्नाटक के कोलार में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ बैलगाड़ी और साइकिल पर रोड शो किया। उन्होंने ये भी कहा था, “मोदी स्पीकर और एयरोप्लेन मोड में रहते हैं, वर्क मोड में नहीं।”

    About jap24news