Wednesday , 19 September 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    आजम खान ने कहा- शिव मंदिर है ताजमहल, ताज को गिराने के लिए फावड़ा लेकर जाऊंगा; जयाप्रदा पर भी कसा तंज

    आजम खान ने कहा- शिव मंदिर है ताजमहल, ताज को गिराने के लिए फावड़ा लेकर जाऊंगा; जयाप्रदा पर भी कसा तंज

    मुरादाबाद.सपा के वरिष्ठ नेता आजम खां रविवार को पूर्व सपा विधायक की याद में आयोजित एक मुशायरे में शिरकत करने के लिए मुरादाबाद पहुंचे। यहां उन्होंने जयाप्रदा पर तंज कसा। उन्होंने जयाप्रदा की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अगर हम नाचने- गाने वालों के मुंह लगेंगे तो भला सियासत कैसे कर पाएंगे। वहीं, उन्होंने ताजमहल को लेकर बड़ा बयान देते हुए कहा कि शिवजी के मंदिर को तोड़कर बनाए गए ताजमहल को गिराना चाहिए और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अगर ताजमहल गिराएंगे तो में भी फावड़ा लेकर चलूंगा। आजम ने मंच से ऐलान किया कि ताजमहल शिवजी का मंदिर है और रहेगा।

    क्या है ताजमहल में विवाद

    – कई हिन्दूवादी संगठन ताजमहल को तेजो महल बता रहे हैं। उनका कहना है कि शिव मंदिर को तोड़कर ताजमहल बनाया गया था।
    – आजम खान कई बार ताजमहल को लेकर बयान दे चुके हैं, उन्होंने कहा था कि प्रदेश के मुखिया ताजमहल को गिराना चाहते हैं।

    क्या कहा था जया प्रदा ने

    – पूर्व सांसद जयाप्रदा ने शनिवार को समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान की तुलना ‘पद्मावत’ फिल्म के किरदार खिलजी से की थी। शनिवार को राजधानी लखनऊ में उन्होंने कहा कि ‘पद्मावत’ फिल्म देखते हुए खिलजी का किरदार देखकर उन्हें आजम खान की याद आ गई। जयाप्रदा ने कहा कि जब वह चुनाव लड़ रही थीं तो आजम खान ने भी उन्हें इसी तरह से प्रताड़ित किया था। आपतको बता दें कि संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ में रणवीर सिंह ने खिलजी की भूमिका निभाई थी।

    – फिल्म में खिलजी का चरित्र क्रूरता से भरपूर था। इस फिल्म को लेकर देशभर में काफी विवाद भी हुआ था। जयाप्रदा ने कहा, ‘मैं जब फिल्म पद्मावत देख रही थी, खिलजी के किरदार से मुझे आजम खानजी की याद आ गई।

    एक-दूसरे के खिलाफ कर चुके हैं टिप्पणी

    – जयाप्रदा और आजम खान के बीच जुबानी जंग अक्सर देखने को मिलती रही है। पूर्व में पार्टी से निकाले जाने का आरोप आजम ने जयाप्रदा पर ही मढ़ा था। आजम ने तब विवादित बयान देते हुए कहा था कि एक नाचने वाली के चलते उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया। एक और बयान में उन्होंने कहा था कि हम तो नाचनेवाली को भी सांसद बना देते हैं।
    – जयाप्रदा ने भी इससे पहले आजम पर कई तीखे वार किए हैं। रामपुर से लोकसभा सांसद रहीं जयाप्रदा ने आरोप लगाया था कि आजम के खौफ के कारण ही उन्हें अपने संसदीय क्षेत्र से दूर रहना पड़ता है।

    दोनों के बीच लंबा विवाद

    – दरअसल, जया प्रदा अमर सिंह की करीबी मानी जाती हैं और आजम खान से उनका विवाद काफी लंबा है। इसकी वजह जया प्रदा का आजम खान के गृहनगर रामपुर से चुनाव लड़ती थीं। 2004 के लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने जया प्रदा को टिकट दिया और वो चुनाव जीत गईं थी।

     

    About jap24news