Monday , 17 December 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    आरक्षक- साहब, कैंसर पीड़ित माता-पिता को मेरी जरूरत है ट्रांसफर कर दो

    आरक्षक- साहब, कैंसर पीड़ित माता-पिता को मेरी जरूरत है ट्रांसफर कर दो

    भोपाल। साहब, बड़ा बेटा होने के बावजूद मैं कैंसर पीड़ित माता-पिता की देखभाल और ठीक से इलाज नहीं करवा पा रहा हूं। मेरा ट्रांसफर दिल्ली करवा दो। यह बात इटारसी आरपीएफ थाने में तैनात आरक्षक शमशेर आलम ने आरपीएफ आईजी एएन मिश्रा से कही। आरक्षक की पीड़ा को समझते हुए आईजी ने तुरंत कहा कि समशेर आप चिंता मत करो। मैं डीजी साहब से अलग अनुशंसा कर आपका ट्रांसफर कराऊंगा, ताकि आप नौकरी के साथ कैंसर पीड़ित माता-पिता की सेवा कर सको। ये वाक्या बुधवार को भोपाल के नर्मदा क्लब का है।

    दरअसल, पश्चिम मध्य रेलवे जबलपुर जोन के नवागत आरपीएफ आईजी एएन मिश्रा पहली बार भोपाल आए थे। उन्होंने पहले भोपाल और हबीबगंज स्टेशन पर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। इसके बाद वे मंडल के जवानों से मिले और एक-एक करके समस्या पूछी। इसमें इटारसी से आए शमशेर आलम ने उन्हें बताया था कि वे दिल्ली के रहने वाले हैं। उनके माता-पिता दिल्ली में रहते हैं और कैंसर पीड़ित है। वे कई दिनों से प्रयास कर रहे हैं कि उनका ट्रांसफर हो जाए, पर नहीं हो पा रहा है।

    इस पर आईजी ने कहा कि जोन के अंदर एक से दूसरे डिविजन में ट्रांसफर का मामला रहता तो वे तुरंत करवा देते। लेकिन यह मामला एक से दूसरे जोन का है। ऐसे में वे आरपीएफ डीजी से अनुशंसा कर ट्रांसफर कराएंगे।

    ये नसीहत भी दी

    आईजी से मंडल के भोपाल 70 से अधिक जवानों ने मुलाकात की। ज्यादातर ट्रांसफर नहीं होने से परेशान थे। इनमें कई तो कोटा ट्रांसफर की मांग करने वाले थे। इस पर आईजी ने कहा कि समस्या तो समझ में आती है, पर कोई सिर्फ इसलिए ट्रांसफर मांगे कि बच्चे व परिवार कोटा में हैं और वे भोपाल में नौकरी कर रहे हैं तो यह ठीक नहीं है। क्योंकि जवानों की जरूरत तो सभी मंडलों में है। इसलिए बहुत जरूरी न होने तक ट्रांसफर के लिए परेशान न हो।

    जवान इसलिए खुश

    जवानों की माने तो एएन मिश्रा पहले ऐसे आईजी बताए जा रहे हैं, जिन्होंने जवानों से वन-टू-वन बात की और कहा कि समस्याओं का निराकरण हुआ है या नहीं, यह जानकारी फोन पर खुद अपडेट कराएं। आईजी ने गंभीर समस्याओं से जूझ रहे जवानों के मोबाइल नंबर भी लिखकर ले गए।

    सुरक्षा को लेकर ये कहा

    अधिकारियों की माने तो आईजी ने भोपाल स्टेशन को कवर्ड करने पर जोर दिया है। वे बार-बार बंद हो रहे बैग स्कैनर से नाराज दिखे। हर तरफ से स्टेशन के खुले होने पर उन्होंने अधिकारियों से बातचीत की। हबीबगंज आरपीएफ बैरक की साफ-सफाई देकर खुशी जाहिर की। आईजी की डीआरएम भी मंडल में सुरक्षा व्यवस्थाओं को लेकर चर्चा की। उनके साथ भोपाल आरपीएफ कमांडेंट विवेक सागर व अन्य अधिकारी मौजूद थे।

     

    About jap24news