Wednesday , 17 October 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    उमरिया में अपहरणकर्ताओं के चंगुल से भागकर नाबालिग ने बचाई जान

    उमरिया में अपहरणकर्ताओं के चंगुल से भागकर नाबालिग ने बचाई जान

    उमरिया । उमरिया में एक नाबालिग के अपहरणकर्ताओं के चंगुल से बचकर भागने में कामयाब होने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि धनवाही के रहने वाला नीरज पिता छोटेलाल यादव अपनी बकरी चराने के लिए पास के जंगल गया था। देर शाम जब वह वापसलौट रहा था, तो रास्ते में सफेद बोलेरो वाहन ने उसे ओवर टेक किया,और उसमें से करीब तीन की संख्या में अज्ञात लोग उतरे और नाबालिग के गले को पकड़कर नशीला पदार्थ सुंघाकर वाहन में बैठा लिया। जिसके बाद वह अचेत हो गया।

    अपह्रत नाबालिग की माने तो जब उसे होश आया तब वह कटनी साउथ स्टेशन के पास था। इसी बीच मौका देखकर अंधेरे का फायदा उठाकर नाबालिग मौके से फरार हो कर पास किसी झाड़ी में छिप गया। नाबालिग ने बताया कि इसी बीच गांव के झल्ला बर्मन ने किन्ही कारणों से उसको फोन किया,जिसके बाद उसे पूरे मामले की जानकारी दी ।

    बताया जाता है कि इसके बाद परिवार जन सक्रिय हुए और कटनी रेलवे पुलिस की मदद से नाबालिग को बरामद किया। इस मामले में देर रात 12.30 बजे अपह्रत नाबालिग को सुरक्षित घर लाया गया। जिले में लम्बे समय से बच्चो के अपहरण के मामले अलग- अलग थाना क्षेत्र से आते रहे है,पुलिस इन मिसिंग कंप्लेन पर गुमशुदा की बरामदगी के प्रयास भी करती रही है। सवाल यह उठता है कि अपह्रत नाबालिग की आपबीती को सही माना जाए तो आखिर ये कौन लोग थे जो बच्चे का संदिग्ध अवस्था मे अपहरण किया और किस मंशा से कटनी से कही अन्यत्र ले जाने की फिराक में थे।

    इस पूरे मामले में यह भी माना जा रहा है कि अपहरणकर्ता किसी खास गिरोह के लोग थे जो शरीर के अंगों के खरीद फरोख्त में शामिल है,घटना के बाद से ही स्थानीय लोगो का मानना है कि अपह्रत नाबालिग का अपहरणकर्ताओं द्वारा अपहरण करने के पीछे ऐसी घिनोनी मंशा से भी इंकार नही किया जा सकता।पीड़ित पिता छोटे लाल ने बताया कि फिलहाल बच्चा मिल गया है, हालांकि पुत्र घटना के कई घण्टे बाद भी अब तक सामान्य नही हो सका है।

     

    About jap24news