Thursday , 18 October 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    केंद्रीय इस्पात मंत्री भिलाई पहुंचे, किया BSP का दौरा, घायलों से की मुलाकात

    केंद्रीय इस्पात मंत्री भिलाई पहुंचे, किया BSP का दौरा, घायलों से की मुलाकात

    भिलाई। केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह भिलाई पहुंचे हैं। वे भिलाई स्टील प्लांट में हुए हादसे में घायल हुए लोगोंं से मिलकर उनके स्वास्थ्य और इलाज की जानकारी ली। उन्होंने अस्पताल प्रबंधन से भी चर्चा कर घायलों को उचित इलाज मुहैया कराने को कहा। इस्पात मंत्री ने भिलाई स्टील प्लांट में घटनास्थल का दौरा भी किया। उनके साथ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह भी मौजूद थे।

    आपको बता दें कि भिलाई स्टील प्लांट में मंगलवार को भीषण विस्फोट हुआ था जिसमें 11 लोगों की मौत हो गई थी और 9 लोग घायल हो गए थे। घायलों को भिलाई के सेक्टर 9 अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इन घायलों का इलाज करने के लिए एम्स दिल्ली के चार डॉक्टरों की टीम सेक्टर 9 अस्पताल पहुंच गई है।

    परिजनों ने जताया गुस्सा

    हादसे में जान गंवाने वाले 2 कर्मचारियों के नाम गलत लिखने पर उनके परिजनों ने आपत्ति जताई। परिजन अस्पताल प्रबंधन की इस गलती से खासे नाराज भी हुए। बीती रात करीब 2.30 तक अस्पताल में इसे लेकर हंगामा चलता रहा। बाद में जब अस्पताल प्रबंधन ने सही नाम की पर्ची दी तब जाकर परिजन शांत हुए। वहीं पोस्टमॉर्टम रुम में जगह ना होने के कारण 2 शवों को अपोलो हॉस्पिटल में रखा गया।

    संयुक्त श्रद्धांजलि

    इधर भिलाई स्टील प्लांट हादसे में मृत कर्मचारियों को विभिन्न कर्मचारी संगठनों ने श्रद्धांजलि दी। कर्मचारी संगठनों ने संयुक्त रूप से शोक सभा आयोजित की। संगठनों से जुड़े कई कर्मचारी भिलाई स्टील प्लांट के बोरिया गेट पर इकट्ठा हुए और मृत कर्मचारियों को श्रद्धांजलि दी।

    कैसे हुई घटना

    भिलाई स्टील प्लांट के जनसंपर्क विभाग द्वारा बयान जारी कर बताया गया कि नियमित मरम्मत कार्य के दौरान कोक ओवन बैटरी कॉम्प्लेक्स नंबर-11 के गैस पाइप लाइन में आग लग गई थी। उस समय इस स्थान पर काम कर रहे कर्मचारी घायल हुए। भिलाई स्टील प्लांट प्रबंधन ने ये भी लिखा कि घटना में 11 लोगों के जीवन अपूरणीय क्षति हुई है। घायल लोगों का अस्पताल में इलाज किया जा रहा है।

    गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट

    इधर भिलाई स्टील प्लांट में हुए ब्लास्ट की रिपोर्ट केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने प्रबंधन से मांगी है। इसके अलावा श्रम विभाग ने संयंत्र प्रबंधन द्वारा की गई पूरी घटना की जांच रिपोर्ट तलब की है।

    About jap24news