Monday , 17 December 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    ट्विटर को सरकार का अल्टीमेटम, बात मानो या कार्रवाई के लिए रहो तैयार

    ट्विटर को सरकार का अल्टीमेटम, बात मानो या कार्रवाई के लिए रहो तैयार

    नई दिल्ली। सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर पर पोस्ट किए जाने वाले आपत्तिजनक ट्वीट को लेकर सरकार का रुख सख्त हो गया है। सरकार ने स्पष्ट शब्दों में कह दिया है कि वह अपने प्लेटफार्म से आपत्तिजनक ट्वीट समय पर हटा ले या कार्रवाई के लिए तैयार हो जाए।

    गृह सचिव राजीव गौबा ने ट्विटर के वरिष्ठ अधिकारियों को बुलाकर स्पष्ट किया कि यदि जांच एजेंसियों के अनुरोध पर भी आपत्तिजनक ट्वीट को तत्काल प्रभाव से नहीं हटाया गया, तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। ट्विटर के साथ-साथ यूट्यूब, वाट्सएप, इंस्टाग्राम समेत सभी सोशल मीडिया कंपनियों के प्रतिनिधियों से उन्होंने बात की है।

    इसके बाद से वाट्सएप ने फर्जी मैसेज रोकने के लिए कई कदम उठाए हैं और आगे भी कई उपायों का एलान किया है। वहीं, ट्विटर इसे गंभीरता से नहीं ले रहा था। यही कारण है कि सोमवार को उसके वरिष्ठ अधिकारियों को अलग से बुलाना पड़ा। राजीव गौबा ने ट्विटर के अधिकारियों को साफ कर दिया कि भारतीय कानून में आपत्तिजनक ट्वीट नहीं हटाने की दिशा में पर्याप्त कानूनी कार्रवाई का प्रावधान है और जरूरत पड़ने पर इसे लागू किया जा सकता है।

    पुख्ता प्रणाली तैयार करने को कहा

    इसके साथ ही गृह सचिव ने ट्विटर को आपत्तिजनक ट्वीट तत्काल हटाने के लिए पुख्ता प्रणाली तैयार करने को कहा है। गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आपत्तिजनक ट्वीट नहीं हटाने को लेकर जांच और सुरक्षा एजेंसियों की शिकायत को देखते हुए गृह सचिव राजीव गौबा ने ट्विटर के सुरक्षा मुद्दों के ग्लोबल हेड विजया गड्डे और भारतीय प्रतिनिधि महिमा कौल को तलब किया था।

    दोनों के सामने तथ्यों को रखते हुए राजीव गौबा ने कहा कि जांच एजेंसियों की ओर से कानूनी प्रक्रिया के तहत किए गए अनुरोध के बावजूद ट्विटर आपत्तिजनक ट्वीट नहीं हटा रहा है। उन्होंने बताया कि ऐसे कुल अनुरोध में से केवल 60 फीसद पर ही कार्रवाई की गई है। वह भी समय पर नहीं हुई।

    दिल्ली पुलिस के अनुरोध का उदाहरण दिया

    उदाहरण के तौर पर उन्होंने दिल्ली पुलिस द्वारा किया गया एक अनुरोध भी दिखाया, जिसमें एक ट्वीट में हिंसा भड़काने की बात कही गई थी। दिल्ली पुलिस ने कानूनी प्रक्रिया के तहत ट्विटर से इसे हटाने का अनुरोध किया था, लेकिन इस ट्वीट को पूरी तरह से नहीं हटाया गया। जिन थोड़े से भाग को हटाया भी गया, उसमें भी काफी वक्त लगा। राजीव गौबा ने ट्विटर को भारत में चौबीस घंटे काम करने वाला तंत्र सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है, ताकि आपत्तिजनक ट्वीट को तत्काल प्रभाव से हटाया जा सके।

    इसके साथ ही भारत में एक संपर्क अधिकारी नियुक्त करने को भी कहा गया है, जो जांच व सुरक्षा एजेंसियों के लिए हमेशा आसानी से उपलब्ध रहे। गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि गृह सचिव इस साल जून से ही लगातार सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के साथ बातचीत कर आपत्तिजनक व फर्जी सामग्री पर तत्काल कार्रवाई का तंत्र खड़ा करने का अनुरोध कर रहे हैं।

    About jap24news