Friday , 14 December 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    नन बनाने बस्तर से लड़कियों को उज्जैन ले जातीं 2 सिस्टर पकड़ाईं

    नन बनाने बस्तर से लड़कियों को उज्जैन ले जातीं 2 सिस्टर पकड़ाईं

    कांकेर.चारामा पुलिस ने यात्रीबस से 7 बालिकाओं को दो सिस्टर के साथ पकड़ा। प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई कि सिस्टर उन्हें मध्यप्रदेश पढ़ाई का लालच देकर नन बनाने ले जा रही थी। बालिकाएं दक्षिण बस्तर के अंदरूनी इलाके की हैं। मामला बालक कल्याण समिति को सौंपा गया है जिसमें जांच जारी है। दोनों सिस्टरों को कांकेर के सेंट माईक स्कूल में एहतियात के तौर पर रखा गया है।

    चारामा पुलिस को 10 अप्रैल को सूचना मिली कि कुछ नाबालिग बालिकाओं को दो सिस्टर अपने साथ ले जा रही हैं। सूचना के आधार पर पुलिस ने चारामा में उक्त बस की जांच की तो उसमें 7 बालिकाएं मिलीं जिसमें 3 नाबालिग व 4 बालिग थी। सभी बीजापुर जिले के अंदरूनी गांव की रहने वाली हैं। पुछताछ में बालिकाओं ने बताया उन्हें अंग्रेजी व हिंदी की पढ़ाई के लिए मध्यप्रदेश के उज्जैन ले जाने की बात कही गई थी। बालिकाओंं के साथ मिली सिस्टर ने अपना नाम मैरी जार्ज तथा रोज थामस बताया। इन्होंने बच्चियों को उज्जैन के सेंट हायर कांग्रीगेशन संस्था में पढ़ाई के लिए ले जाना बताया। जिला बाल संरक्षण विभाग ने जब उज्जैन में उक्त संस्था की जांच कराई तो वह वहां नहीं होना पाया गया। इससे मामला संदेहास्पद होने के बाद इसकी जांच शुरू कर दी गई है। जांच में यह बात सामने आ रही है कि इन बालिकाओं को नन बनाने ले जाया जा रहा था।

    पलायन पंजी में भी नहीं है दर्ज
    बच्चियों को गांव से बाहर ले जाने की जानकारी जिला प्रशासन तो दूर गांव के पलायन पंजी में भी दर्ज नहीं है। बालिकाओं के माता पिता से भी इसकी अनुमति लेने दस्तावेज उपलब्ध नहीं कराए जा सके। गांव में ग्राम पंचायत सचिव व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के पास होने वाले पलायन पंजीयन में भी इसकी जानकारी नहीं दी गई है।

    About jap24news