Friday , 20 April 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    पुलिस में कॉन्स्टेबल है ये लेडी, लोगों को ऐसे फंसाती थी अपने जाल में

    पुलिस में कॉन्स्टेबल है ये लेडी, लोगों को ऐसे फंसाती थी अपने जाल में

    अजमेर। खुद को एसपी का पीए बनाया, पति को जर्नलिस्ट, फिर करते रहे लोगों को ब्लैकमेल और लूटते रहे मोटी रकम। कुछ इसी तरह का खेल करती रही एसपी ऑफिस में तैनात ये लेडी कॉन्स्टेबल। अब तक करोड़ों रुपए ऐंठने वाली ये लेडी 80 हजार रुपए की ठगी करने के मामले में पकड़ी गई तो ये खुलासा हुआ। येहै पूरा मामला, कहां है अब ये…
    – कॉन्स्टेबल का नाम है नेन्सी सोनिया राज। ठगी के मामले में पकड़े जाने के डर से अब फरार हो गई है।
    – उसके पति को पुलिस पकड़ने में कामयाब हो चुकी है। उसे यहां रामगंज थाने ने गिरफ्तार किया है।
    – यह महिला कॉन्स्टेबल फरवरी 2016 से ही ड्यूटी से गैरहाजिर चल रही है।
    – आरोपी कॉन्स्टेबल नेन्सी ने पति विकास झल्ली के साथ मिलकर एक सब्जी बेचने वाली महिला से 80 हजार रुपए ऐंठ लिए थे।
    – इसी मामले में पीड़ित महिला ने 26 जुलाई को रामगंज थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।
    – बस यहीं से शुरू हो गई इस कॉन्स्टेबल की उलटी गिनती।
    यूं दी गई दबिश
    – मामले में जांच अधिकारी एएसआई विजय सिंह ने बताया कि नारी शाला के निकट आरोपियों के मकान पर दबिश दी गई।
    – आरोपी कॉन्स्टेबल तो नहीं मिली, लेकिन मामले में आरोपी उसका पति विकास झल्ली हत्थे चढ़ गया।
    – उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। कॉन्स्टेबल नेन्सी की सरगर्मी से तलाश की जा रही है।
    नेन्सी बनी थी एसपी की पीए और उसका पति जर्नलिस्ट
    – रामगंज थाना पुलिस के अनुसार पीड़ित अंजना देवी सब्जी बेचने का काम करती है।
    – 26 जुलाई 2016 को उसने रिपोर्ट दर्ज कराई थी।
    – पीड़िता ने बताया कि गांव में उसकी जमीन का विवाद चल रहा है।
    – महिला कॉन्स्टेबल नेन्सी सोनिया राज और उसका पति विकास कुमार ने उससे संपर्क किया और जमीन के प्रकरण का उसके पक्ष में निस्तारण कराने का वादा किया।
    – नेन्सी ने खुद को एसपी की पीए बताया था, जबकि विकास को उसने बड़े अखबार का जर्नलिस्ट बताकर उससे मिलवाया था।
    – दोनों ने इस काम के एवज में उससे 80 हजार रुपए ले लिए, लेकिन जमीन का विवाद बरकरार रहा।
    – उसने नेन्सी से रुपए वापस मांगे तो उल्टा उसे ही धमकाने लगी।
    – जांच अधिकारी विजय सिंह ने बताया कि मामले में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया, जांच में पीड़िता के आरोप सत्य पाए गए हैं।

    About admin

    Leave a Reply