Wednesday , 19 September 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    पूर्व MLA के बेटों ने आरक्षक को पीटा, SI की वर्दी फाड़ी

    पूर्व MLA के बेटों ने आरक्षक को पीटा, SI की वर्दी फाड़ी

    बिलासपुर। प्रदेश के खाद्य मंत्री पुन्नूलाल मोहले के करीबी रिश्तेदार व भाजपा के पूर्व विधायक चोवादास खांडेकर के बेटों मुंगेली के पूर्व जनपद अध्यक्ष तरुण खांडेकर, विक्की खांडेकर व उसके साथियों ने मिलकर तखतपुर में पुलिस पेट्रोलिंग के दौरान आरक्षक पर जानलेवा हमला कर दिया।

    वहीं विवाद के दौरान एसआइ की वर्दी फाड़ दी और मोबाइल तक छीन लिया। पुलिस ने हमलावर आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर गुरुवार की सुबह उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

    पुलिस के अनुसार घटना बुधवार देर रात की है। तखतपुर पुलिस की पेट्रोलिंग टीम रात्रि गस्त पर थी। इस दौरान तरुण व उसका भाई विक्की खांडेकर अपने आठ-10 साथियों के साथ खड़े थे। पुलिसकर्मियों ने पूछताछ करते हुए उन्हें घर जाने की नसीहत दी। इस पर तरुण से आरक्षक राजेश डाहिरे की बहस शुरू हो गई।

    पुलिसकर्मियों के रवैए को देखकर वह हावी हो गया और अपनी राजनीतिक पहुंच बताने लगा। देखते ही देखते उनके बीच हाथापाई शुरू हो गई। उन्होंने मिलकर आरक्षक पर लात-घूंसों से पिटाई शुरू कर दी। इससे आरक्षक डहरिया के प्राइवेट पार्ट पर गंभीर चोट आई और वह बेहोश हो गया।

    बीच-बचाव करने पर अन्य आरक्षकों के साथ भी उन्होंने हाथापाई की। इस दौरान एसआइ राकेश साहू की वर्दी फाड़ दी। एसआइ ने इस घटना की जानकारी देने के लिए कोटा एसडीओपी विश्वदीपक त्रिपाठी को फोन लगाया, तब तरुण ने उनके हाथ से मोबाइल छीन लिया और एसडीओपी को धौंस दिखाते हुए आरक्षकों की शिकायत की।

    इस पर उन्होंने सभी को थाने आकर अपनी बात रखने की नसीहत दी। इतना सब कुछ होने के बाद देर रात मामला शांत हो गया। लेकिन, जैसे ही पुलिस अफसरों को पुलिसकर्मियों की पिटाई की खबर मिली वे तत्काल हरकत में आ गए।

    एसपी आरिफ शेख ने आनन-फानन में आरक्षक का मुलाहिजा कराया और उसे इलाज के लिए अस्पताल भेजा। सुबह होने से पहले ही आरोपियों के खिलाफ धारा 186, 332, 353, 307, 392 के तहत शासकीय कार्य में बाधा, जानलेवा हमला, व लूट का अपराध दर्ज किया गया।

    फिर पुलिस गुरुवार की सुबह चोवादास खांडेकर के घर में दबिश देकर उनके दोनों बेटों को पकड़कर थाने ले आई। उन्हें गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

    तखतपुर में तनाव, थाना छावनी में तब्दील

    इस घटना के बाद तखतपुर में तनाव की स्थिति निर्मित हो गई। पूर्व विधायक के समर्थकों की भीड़ थाने व आसपास एकत्रित हो गई थी। इस बीच हालात को देखते हुए पुलिस दोनों आरोपियों को लेकर बिलासपुर आ गई थी। वहीं एहतियात के तौर पर थाने में बड़ी संख्या में बल तैनात कर दिया गया था। हालांकि, भीड़ ने किसी तरह का हंगामा व विरोध प्रदर्शन नहीं किया।

    About jap24news