Monday , 17 December 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे केएमपी वेस्टर्न एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन

    प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे केएमपी वेस्टर्न एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन

    नई दिल्ली। कुंडली गाजियाबाद पलवल ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे (केजीपी) के उद्घाटन के महज छह माह बाद ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज कुंडली मानेसर पलवल (केएमपी) जनता को समर्पित करेंगे।

    6434 करोड़ रुपये की लागत से बने 135.65 किलोमीटर लंबे इस मार्ग का 53 किलोमीटर लंबा पलवल से मानेसर तक का हिस्सा हरियाणा सरकार ने अप्रैल 2016 को पूरा कर जनता के लिए खोल दिया था। प्रधानमंत्री मोदी अब शेष बचे कुंडली से मानेसर मार्ग का उद्घाटन करेंगे। इससे राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को यातायात जाम और प्रदूषण से राहत मिलेगी।

    2006 में कांग्रेस सरकार ने दिल्ली को जाम व प्रदूषण से मुक्ति दिलाने के लिए दिल्ली के पूर्व में कुंडली-गाजियाबाद-पलवल (केजीपी) और पश्चिम में केएमपी एक्सप्रेस वे की योजना बनाई। तब जुलाई 2009 तक इन दोनों मार्गों का दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स-2010 से पहले निर्माण पूरा होना था। मगर तत्कालीन सरकार केएमपी पर ही निर्माण शुरू करा पाई और नवंबर 2014 तक आधा हिस्सा भी पूरा नहीं हुआ था।

    प्रदेश में सतारूढ़ होने पर भाजपा सरकार ने नवंबर 2014 में इसे अपने हाथ में लिया। उद्योग विभाग ने इस साल 27 मई को जनता के लिए खोले गए केजीपी एक्सप्रेस मार्ग की लागत 9428 करोड़ रुपये की तुलना में 2994 करोड़ रुपये कम लागत में तैयार कराया है।

    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के पूर्व और पश्चिम में बने केजीपी और केएमपी एक्सप्रेस मार्ग से एनसीआर के शहरों फरीदाबाद, गुरुग्राम, गाजियाबाद, नोएडा के साथ हरियाणा, राजस्थान व उत्तर प्रदेश के दूसरे शहरों को भी सीधा फायदा होगा।

    प्रधानमंत्री मोदी सोमवार को गुरुग्राम के सुल्तानपुर गांव में बड़ी रैली में केएमपी के साथ ही फरीदाबाद के मुजेसर से बल्लभगढ़ तक 3.02 किलोमीटर लंबे मेट्रो रेल लिंक का भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उद्घाटन करेंगे। इस मार्ग पर 580 करोड़ रुपये की लागत आई है।

    गुरुग्राम, फरीदाबाद, बहादुरगढ़ के बाद बल्लभगढ़ मेट्रो रेल लाइन से जुड़ने वाला हरियाणा का चौथा शहर हो जाएगा। प्रधानमंत्री इस रैली स्थल से ही पलवल के दूधौला गांव में श्री विश्र्वकर्मा कौशल विश्र्वविद्यालय की भी आधारशिला रखेंगे। देश के इस पहले कौशल विश्र्वविद्यालय के निर्माण पर 989 करोड़ रुपये की लागत आएगी। यह विश्वविद्यालय 82.5 एकड़ में बनाया जा रहा है।

     

    About jap24news