Wednesday , 20 June 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    मप्र में कांग्रेस की सरकार आई तो दस दिन में किसानों को मिलेगा न्याय: राहुल गांधी

    मप्र में कांग्रेस की सरकार आई तो दस दिन में किसानों को मिलेगा न्याय: राहुल गांधी

    मंदसौर। मंदसौर गोलीकांड की पहली बरसी पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी गोलीकांड में मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि देने पिपलियामंडी पहुंचे। वे इस दौरान गोलीकांड से प्रभावित हुए किसान परिवारों से मिले। राहुल गांधी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि एक साल पहले प्रदेश की सरकार ने किसानों पर आक्रमण किया, किसानों पर गोली चलाई, किसानों को मारा। पूरे देश में आज किसान अपना हक मांग रहा है, आत्महत्या कर रहा है। जब किसान बोलता है कि हमें सही दाम चाहिए, हमारा कर्जा माफ कीजिए तो पीएम नरेंद्र मोदी और मप्र के सीएम कहते हैं कि हमारे पास आपके लिए समय नहीं है।

    आपने हमसे कहा था और यूपीए की सरकार ने देशभर के किसानों का 70 हजार करोड़ रुपए का कर्जा माफ कर दिया था। जिस दिन मप्र में कांग्रेस पार्टी की सरकार आएगी, उसके बाद आप दस दिन गिनना और इसके अंदर आपको न्याय मिलेगा। हिंदुस्तान के किसानों ने इस देश को खड़ा किया है। अगर हम किसानों की रक्षा नहीं कर सकते हैं तो हमारी सरकारों का कोई मतलब नहीं। राहुल गांधी ने कहा कि मध्यप्रदेश में किसान आत्महत्या कर रहे हैं, 1200 किसानों ने आत्महत्या की है। क्या हिंदुस्तान के अमीर लोगों में से किसी ने आत्महत्या की।

    सभा में करीब एक लाख से ज्यादा लोग पहुंचे थे। उन्होंने मंच से यह भी कहा कि कांग्रेस प्रदेश में एकजुट है और इसी एकजुटता के साथ चुनाव लड़ेगी। राहुल गांधी ने समर्थन मूल्य और कर्जमाफी की बात कर किसानों को साधने का प्रयास किया तो रोजगार उपलब्ध कराने की बात कर युवाओं को अपनी तरफ खींचने की कोशिश की।

    डोकलम पर प्रधानमंत्री ने कुछ नहीं कहा

    नीरव मोदी और मेहुल चौकसी का नाम लेते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री ने 30 हजार करोड़ रुपए दिया। इतने पैसे में मप्र के किसानों का दो बार कर्जा माफ किया जा सकता है। राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री के जेब में जो टेलिफोन है उसके पीछे मेड इन चाइना लिखा है। आज हर जगह जो भी चीज मिलती है उस पर मेड इन चाइना लिखा होता है। पहले वो चीन के राष्ट्रपति के साथ अहमदाबाद में झूला झूलते हैं फिर जब वो डोकलम में अपनी सेना भेजते है तो उन्हें कुछ नहीं कहते। ये नरेंद्र मोदी और शिवराज सिंह चौहान की सरकार है, लेकिन कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया की सोच दूसरी है। हम चाहते हैं कि किसानों को उनका हक मिले, युवाओं को रोजगार मिले।

    बीजिंग के लोगों को खिलाएंगे मंदसौर का लहसुन

    हम आपसे अपने मन की बात नहीं करेंगे, हम आपके मन की बात सुनेंगे और आपके मन की सरकार बनाएंगे। हम आपसे झूठ नहीं बोलते, हम ये नहीं कहते है कि मैं आपके जेब में 15 लाख रुपए डाल दूंगा, हम जो कहेंगे सच कहेंगे। हम आपको सिर्फ मंडी में पैसा नहीं देना चाहते हैं, हम आपकी जिंदगी बदलना चाहते हैं। मध्यप्रदेश के हर जिले में कुछ न कुछ उगता है, आप मंडी में माल बेचते हो फिर आपको जो चेक मिलता है उससे 15 प्रतिशत कम हो जाता है। जो फायदा आपकी मेहनत का आपको मिलना चाहिए हम आपको देंगे। गांवों में फूड प्रोसेसिंग प्लांट बनाएंगे। इनमें हम किसानों के बेटे-बेटियों को रोजगार देंगे। राहुल गांधी ने कहा कि आप हमारा साथ देंगे तो हम चाइना की राजधानी बीजिंग में लोगों को मंदसौर का लहसुन खिलाएंगे।

    मोदी ने आरएसएस की पढ़ाई की और हमने प्यार की

    राहुल ने सभा में कहा कि मैं एक बार ही प्रधानमंत्री कार्यालय में जाकर नरेंद्र मोदी से मिला हूं, मैंने उनसे कहा कि लाखों किसान मेरे साथ खड़े हैं। मैं उनकी आवाज यहां लेकर आया हूं, आप उनका कर्जा माफ करो। तब उन्होंने किसानों के लिए पांच शब्द भी नहीं बोले। नरेंद्र मोदी ने आरएसएस की पढ़ाई की है लेकिन हमारी पढ़ाई प्यार की है। हमारे सामने दो लक्ष्‍य हैं, हिन्दुस्तान के किसानों की रक्षा और युवाओं को रोजगार। आपको महसूस हो गया हो कि कांग्रेस पार्टी टीम बनकर चुनाव लड़ रही है। मेरी जिम्मेदारी पहले देश की जनता, दूसरे पर कांग्रेस कार्यकर्ता और तीसरे नंबर पर कांग्रेस के नेता रहते हैं। जो सरकार बनेगी उसमें कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता पहले नंबर पर होंगे। मैं चाहता हूं आप लोग सड़कों पर उतरें, गांवों में जाएं, जो भी जनता के पास जाएगा, उनसे मिलेगा उनकी ही मध्यप्रदेश में अगली सरकार होगी।

    कमलनाथ ने कहा कि आगे आने वाला चुनाव कांग्रेस या मेरा नहीं है, ये मप्र के युवाओं और किसानों का भविष्य सुरक्षित रखने का चुनाव है। 6 महीने पर मध्यप्रदेश की विधानसभा में कांग्रेस का झंडा लहराएगा। कांग्रेस द्वारा आयोजित सभा के मंच पर 6 मृत किसानों की तस्वीर लगाई गई थीं और उनके अस्थि कलश भी रखे गए। इस दौरान मंच पर मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्विजय सिंह, कांतीलाल भूरिया और दीपक बाबरिया समेत अन्य नेता मौजूद रहे।

    इलाके में इंटरनेट काफी धीमी गति से चल रहा है, इस दौरान प्रशासन पर इंटरनेट बाधित करने का आरोप लगाया गया। सुबह शुरू हुई श्रद्धांजलि सभा के मंच पर पारस सकलेचा की मंदसौर गोलीकांड पर लिखी किताब का विमोचन किया गया। इसके बाद एक शार्ट फिल्म दिखाई गई। कांग्रेस नेताओं ने मंच से घनश्याम धाकड़ की मौत की न्यायिक जांच करने की मांग भी की

    पुलिस अलर्ट पर

    नीमच जिले के समीप पिपलिया मंडी में कांग्रेस की सभा को लेकर आज नीमच एसपी तुषार कान्त विद्यार्थी ने कंट्रोल रूम से गतिविधि पर नजर रखे हुए हैं। हाईवे पर निगरानी रखी जा रही है, इसके साथ ही सभा में पहुंचने वाले सभी व्यक्तियों पर पैनी निगाह बनी हुई है। सुरक्षा को लेकर पुलिस पूरी तरह से तैयार है। नीमच हाईवे पर मालखेड़ा फंटा, भबढ़िया चौराया, भाटखेड़ा चौराया पर विशेष पुलिस बल तैनात किया गया है, करीबन जिले में 700 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं।

     

    About jap24news