Friday , 14 December 2018
पाठक संख्याhit counter
    BREAKING NEWS
    महानगरों की चकाचौंध में आकर आदिवासी लड़कियां बन रहीं आया

    महानगरों की चकाचौंध में आकर आदिवासी लड़कियां बन रहीं आया

     ग्लोबलाइजेशन के इस दौर में बहुत बदलाव आ गए हैं। आज सबको चकाचौंध की जिंदगी आकर्षित करती है। ये तस्करी की बहुत बड़ी वजह भी है। विशेष चर्चा में ये बात पद्मश्री और जाने-माने समाजसेवी अशोक भगत ने कही। वे यहां बरकतउल्ला विवि में आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए थे।

    उन्होंने कहा कि महिलाओं की तस्करी की बहुत बड़ी वजह है कि आज सभी को धन चाहिए। अपनी जरूरतें पूरी करना है। अगर गांवों में जरूरतें पूरी नहीं होगी तो उसे बाहर जाना पड़ेगा। महिलाएं इससे कैसे अछूती रह सकती हैं।

    खरीदकर और बहला-फुसलाकर हो रही ट्रैफिकिंग

    बड़े शहरों में पति-पत्नी दोनों नौकरी में हैं। उन्हें घर में आया की जरूरत है। आप पाएंगे कि बड़े-बड़े अधिकारियों के यहां आदिवासी महिलाएं काम कर रही हैं। कई बार इन्हें खरीदकर तो कभी बहलाफुसलाकर लाया जाता है। कई लोग स्वेच्छा से भी आते हैं। उन्होंने कहा कि लीगल वे में महिलाओं की ट्रैफिकिंग हो रही है। इसकी मुख्य वजह है कि वर्षों से जो लोग मुख्य समाज की धारा से कटे हुए हैं कि उनकी चाहत होती है कि वे वहां से बाहर जाएं।

    ग्रामीण इलाकों में पलायन ज्यादा

    उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि वो गांवों में ही रोजगार पैदा करे। देश में नीतियां बहुत बनीं है लेकिन उन पर अमल नहीं हो पाता। जिनके लिए ये बनी हैं उन्हें ही इसकी जानकारी नहीं है। भला ऐसे में ट्रैफिकिंग कैसे स्र्केगी।

    भगत ने कहा कि ऐसी योजनाओं को जनता तक पहुंचाया जाए। अगर ऐसा नहीं होगा तो जनता की सरकार पर आस्था कम होगी। आखिर विकास कार्य तो सरकार को ही करना है। सरकार व्यवस्था को दुस्र्स्त करने में ताकत लगाए।

    बहुत अच्छा काम कर रहे मोदी

    भगत से पूछा गया कि वे मोदी के काम से कितने संतुष्ट हैं और उन्हें दस में से कितने नंबर देंगे। इस पर उन्होंने कहा कि मोदी बहुत अच्छा काम कर रहे हैं और उन्हें दस में से दस नंबर दूंगा। मोदी ने देश-दुनिया में एक अलग पहचान बनाई है। वे एक दृष्टि को लेकर काम कर रहे हैं। उन्होंने स्वच्छता अभियान चलाया आज सब इससे वाकिफ हैं। बदलाव भी आ रहे हैं।

    About admin