Sunday , 19 November 2017
पाठक संख्याhit counter
    English
BREAKING NEWS

इतिहास

सैनिकों की तरह रहते थे ये नवाब, दूसरे विश्वयुद्ध में उड़ाए थे फाइटर प्लेन

navab-story_1508912476

भोपाल। 1 नवंबर को मध्यप्रदेश का 62वां स्थापना दिवस मनाने जा रहा है कुछ रोचक किस्से, जो मध्यप्रदेश को अलग पहचान दिलाती है। हम बात कर रहे हैं भोपाल रियासत के आखिरी नवाब हमीदुल्ला खान की, जो अपनी लाइफ स्टाइल की वजह से काफी मशहूर थे। -भोपाल में नजर आने वाली खुली जीप का शौक नवाब के जमाने से ही भोपाल ... Read More »

जानिए क्यों मनाया जाता है धनतेरस का ये त्यौहार

शास्त्रों के अनुसार इस दिन धनवंतरी का जन्म हुआ था, इसलिए इसे धनतेरस कहते है। भगवान धनवंतरी समुद्र मंथन के दौरान अमृत कलश लेकर प्रकट हुए थे इसलिए इस दिन बर्तन खरीदने की परंपरा है। लेकिन धनतेरस से जुड़ी कई कथाएं हैं जिनसे पता चलता है कि दीपावली से पहले धनतेरस क्यों मनाया जाता है।   शास्त्रों के अनुसार धनतेरस के दिन ही ... Read More »

खुद से और परिवार से करते हैं प्यार, तो जरूर पढ़ें अकबर-बीरबल की ये कहानी

insurance-13-1486989049

अकबर अपने कुछ दर‍बारियों के साथ जंगल की सैर पर गए थे। अकबर के नौ रत्‍नों में से एक बीरबल भी उनके साथ थे। जंगल में घूमते-घूमते अकबर को एक खरगोश दिखा जो घोड़ों के कदमों की टाप सुनकर झाड़ियों में छिप गया। इसे देखकर अकबर काफी सोच में पड़ गए और उन्‍होंने अपने दरबारियों से कहा, ”देखा इस खरगोश ... Read More »

बेहतरीन वास्तुकला का नमूना है ‘सांची स्तूप’, जानिए इसके बारे में अनजानी बातें

sanchi_stupa

सांची स्तूप का इतिहास साँची स्तूप को किसी परिचय की जरूरत नहीं है क्योंकि साँची स्तूप को पहले से ही भारत में सबसे महत्वपूर्ण स्थानों में से एक के रूप में चिह्नित किया जा चुका है. साँची स्तूप जगह एक छोटे से गांव में है जो कि भोपाल, मध्य प्रदेश से लगभग बावन किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. साँची स्तूप ... Read More »

60 साल में सिर्फ एक बड़ा उद्योग, बाबुओं का शहर बन गई हमारी पहचान

jwa_1472509735

भोपाल। देश की नवरत्न कंपनियों में से एक भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) की सोमवार को 60वीं वर्षगांठ मनाई गई। 29 अगस्त 1956 को देश के पहले प्रधानमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू ने भेल के रजिस्ट्रेशन की घोषणा की थी। इसे 6 नवंबर 1960 को उन्होंने राष्ट्र को समर्पित किया था। भोपाल कहने को राजधानी, लेकिन भेल की स्थापना के 60 ... Read More »

इतिहास के पन्नों में आज भी वर्णित हैं 25 जून का वो दिन

Invite_A_SLWAF_OurPage_600

हुत समय पूर्व घटित हुई बहुत सी घटनाओं को आज भी याद किया जाता हैं .इतिहास के पन्नों में वर्णित बहुत से महत्पूर्ण तथ्य ,घटनाओं को आज भी प्रतियोगी परीक्षाओं में पूंछा जाता हैं .25 जून के इतिहास में कई महत्वपूर्ण घटनाएं दर्ज हैं, जिसमें 1975 में देश में आपातकाल लगाए जाने की घोषणा और माइकल जैकसन का दुनिया से ... Read More »

विकास ही विकास

Two 3d partners - puppets, installing the diagram. Objects over white

अरे भाई क्या कहें इन टोपी बाज कुर्ताधारियों को कान में कोलाहल मचा रखा हैं। हमने ये कर दिया हमने वो कर दिया समझ नहीं आता हैं ऐसा क्या कर दिया।  महामहोदय ने तो जनता को ऐसा मूर्ख बनाया कि जनता बेचारी आज तक समझी भी नही है कि उसने उनके साथ न्याय किया या अन्याय 15 लाख की चकाचैंध ... Read More »

इतिहास इस महान आदमी को क्यों भूल गया?

उत्तर प्रदेश में काशी से सात मील मुगलसराय है। भारत के सबसे बड़े राजनेता मोहनदास करमचंद गांधी के पैदा होने के 35 साल बाद, तकरीबन सौ साल पहले, भारत के दूसरे प्रधानमंत्री, लाल बहदुर 2 अक्तूबर, 1904 को यहाँ पैदा हुए थे। Read More »

Bhopal News : वन्दे मातरम …………..

15 Aug_Baba

कहानी हमारी आज़ादी के आंदोलन की  बात उन दिनों की है जब हमारे पैरो पे अंग्रेजी सियासत की बेड़िया पड़ी हुयी थी और हम उनकी हुकूमत के सामने नतमस्तक थे , बात एक ऐसे ही छोटे से गावं “रामनगर” की है जो की मध्यप्रदेश के रीवा रियासत में 50  किलोमीटर की दूरी पर था।  साधारण और सीधे सादे लोग ! ... Read More »